मंगलवार, 20 नवंबर 2012

लंदन ओलंपिक 2012


लंदन ओलंपिक 2012 का समापन, भारत को 6 पदक

ग्रीष्म ओलंपिक 2012 (30वें ओलंपिक) का समापन लंदन के ओलंपिक पार्क स्टेडियम में 12 अगस्त 2012 को किया गया. इस समापन समारोह का नाम ए सिंफनी ऑफ ब्रिटिश म्यूजिक रखा गया. महारानी एलिजाबेथ के प्रतिनिधि प्रिंस हैरी, आइओसी के अध्यक्ष जैक्स रोगे ने स्टेडियम में मौजूद दर्शकों का स्वागत किया. समापन समारोह का निर्देशन मशहूर संगीतज्ञ किम गेविन ने किया. कार्यक्रम में 4100 कलाकारों ने हिस्सा लिया. समापन समारोह में खिलाडियों ने एक साथ मार्च पास्ट किया. इस परंपरा की शुरुआत 1956 ओलंपिक में हुई थी, जिसके अनुसार सभी खिलाड़ी विश्व को एकता का संदेश देते हैं. समापन समारोह में भारत की महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम भारत की ओर से ध्वजवाहक रहीं. ओलंपिक का झंडा ब्राजील के शहर रियो डि जेनेरियो को दिया गया. वर्ष 2016 के ओलंपिक खेलों का आयोजन ब्राजील के रियो डि जेनेरियो शहर में किया जाना है.


लंदन ओलंपिक 2012
वर्ष 2012 के ओलंपिक का आयोजन 27 जुलाई से 12 अगस्त 2012 तक लंदन में किया गया. तीसरी बार ओलंपिक की मेजबानी करने वाले एकमात्र शहर लंदन में हुए इन खेलों में 204 देशों के 10500 खिलाड़ियों ने 26 मुख्य खेलों की 302 स्पर्धाओं में भाग लिया. इससे पूर्व लंदन में ओलंपिक खेल दो बार 1908 और 1948 में आयोजित हो चुके हैं. 6 अप्रैल 1896 में पहली बार आधुनिक ओलंपिक खेलों का आयोजन ग्रीस की राजधानी एथेंस में किया गया था.
लंदन ओलंपिक 2012 की विशेषताएं

•सउदी अरब, कतर और ब्रनेइ की महिला खिलाड़ियों ने पहली बार ओलंपिक में हिस्सा लिया.

•दक्षिण अफ्रीका के आस्कर पिस्टोरियस ने कार्बन फाइबर ब्लेड पहनकर 400 मीटर रिले में भाग लिया.

•ओलंपिक खेलों के इतिहास में वर्ष 2012 के लंदन ओलंपिक में पहली बार महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता को शामिल किया गया.

•जमैका के धावक उसैन बोल्ट ने 100 मीटर दौड़ और 200 मीटर दौड़ स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता. वर्ष 1976 के बाद से ओलंपिक के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी खिलाड़ी ने लगातार दो ओलंपिक खेलों में दो ऐथलेटिक स्पर्धा का खिताब जीता हो. इससे पूर्व फिनलैंड के धावक लासे वीरेन ने साल 1972 और 1976 ओलंपिक खेलों की 5 हजार मीटर और 10 हजार मीटर स्पर्धा में खिताब जीता था.

•अमेरिका के तैराक माइकल फेल्प्स ने 4 अगस्त 2012 को तैराकी से संन्यास ले लिया. माइकल फेल्प्स लंदन ओलंपिक 2012 में अपना 18वां स्वर्ण पदक जीतने के साथ ही ओलंपिक खेलों में सबसे अधिक स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ी भी बने. संन्यास के समय माइकल फेल्प्स ने ओलंपिक खेलों में कुल 22 पदक जीते. माइकल फेल्प्स ने लंदन ओलंपिक 2012 में भी अन्य सभी तैराकों से ज्यादा पदक (चार स्वर्ण और दो रजत पदक) जीते.

निम्नलिखित देशों का लंदन ओलंपिक में प्रदर्शन:-
1. अमरीका- 46 स्वर्ण पदक, 29 रजत पदक, 29 कांस्य
2. चीन- 38 स्वर्ण पदक, 27 रजत पदक, 22 कांस्य
3. ब्रिटेन- 29 स्वर्ण पदक, 17 रजत पदक, 19 कांस्य पदक
4. रुस- 24 स्वर्ण पदक, 25 रजत पदक, 33 कांस्य पदक
5. द.कोरिया- 13 स्वर्ण पदक, 8 रजत पदक, 7 कांस्य पदक

.सरकारी नौकरी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

लंदन ओलंपिक 2012 में भारत का प्रदर्शन
लंदन ओलंपिक 2012 की पदक तालिका में भारत का 55वां स्थान रहा. भारत की ओर से सबसे ज्यादा 81 एथलीटों ने लंदन ओलंपिक 2012 में भाग लिया. भारत को लंदन ओलंपिक 2012 में कुछ 6 पदक मिले, बीजिंग ओलंपिक 2008 में भारत को 3 पदक मिले थे. इस बार भारत को कुश्ती में 2, शूटिंग में 2, बैडमिंटन में 1 और बॉक्सिंग में 1 पदक मिला.

•सुशील कुमार ने ओलंपिक 2012 खेलों में पुरुष फ्रीस्टाइल कुश्ती के 66 किलो वर्ग का रजत पदक
•योगेश्वर दत्त ने ओलंपिक 2012 खेलों में पुरुष फ्रीस्टाइल कुश्ती के 60 किलो वर्ग का कांस्य पदक
•गगन नारंग ने ओलंपिक 2012 खेलों में पुरूषों की 10 मीटर एयर रायफल शूटिंग स्पर्धा का कांस्य पदक
•विजय कुमार ने ओलंपिक 2012 खेलों में पुरूषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा का रजत पदक
•साइना नेहवाल ने ओलंपिक 2012 खेलों में महिला बैडमिंटन एकल स्पर्धा का कांस्य पदक
•एमसी मैरी कॉम ने ओलंपिक 2012 खेलों में महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता के 51 किग्रा वर्ग का कांस्य

बीजिंग ओलंपिक 2008
वर्ष 2008 में चीन के बीजिंग में आयोजित 29वें ओलंपिक खेलों में भारत के 57 खिलाड़ियों ने भाग लिया था. भारत ने बीजिंग ओलंपिक 2008 में तीन पदक जीते थे. पदक तालिका में भारत का 50वां स्थान रहा.
•बीजिंग ओलंपिक- 2008 में स्वर्ण पदक: अभिनव बिंद्रा (10 मीटर एयर रायफल स्पर्धा)
•बीजिंग ओलंपिक-2008 में कांस्य पदक: सुशील कुमार (66 किलोग्राम फ्रीस्टाइल स्पर्धा).
•बीजिंग ओलंपिक- 2008 में कांस्य पदक: विजेंद्र कुमार सिंह (75 किलोग्राम मुक्केबाजी स्पर्धा)

भारत का ओलंपिक सफर
लंदन ओलंपिक 2012 में भारत ने दो रजत पदक और 4 कांस्य पदक जीतकर ओलंपिक इतिहास में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. वर्ष 1928 से लेकर 2012 तक भारत ने 24 पदक जीते हैं. भारत ने इनमें से सबसे ज्यादा 11 पदक हॉकी में जीते. व्यक्तिगत स्पर्धाओं कुश्ती और निशानेबाजी में भारत को चार-चार पदक मिले. भारत की पुरुष हॉकी टीम ने वर्ष 1928 के एम्सटर्डम ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था. हॉकी टीम द्वारा जीता गया यह पदक ओलंपिक में भारत का पहला पदक था. वर्ष 1952 के हेलसिंकी ओलंपिक में पहलवान केडी जाधव द्वारा कुश्ती में कांस्य पदक जीता गया. यह पदक किसी व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत द्वारा जीता गया पहला पदक था, वर्ष 1996 के अटलांटा ओलंपिक में भारत के टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने टेनिस स्पर्धा में कांस्य पदक जीता था. ओलंपिक खेलों के इतिहास में वर्ष 2000 के सिडनी ओलंपिक में भारत की कर्णम मल्लेश्वरी ने भारोत्तोलन के 69 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता था. कर्णम मल्लेश्वरी ओलंपिक में पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी हैं. राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने वर्ष 2004 एथेंस ओलंपिक की डबल ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक जीता था.

Responsive ad

Amazon