Sarkari Naukri

यह ब्लॉग खोजें

शुक्रवार, 6 दिसंबर 2019

Commerce GK In Hindi Questions Answers

Commerce GK In Hindi Questions Answers


1. फर्म के पूँजीगत ढाँचे का विश्लेषण करने का सर्वाधिक सर्वसामान्य उपागम क्या है?
(A) अनुपात विश्लेषण (B) नकद प्रवाह विश्लेषण (C) तुलनात्मक विश्लेषण (D) उत्तोलन विश्लेषण See Answer:

2. निक्षेपागारों और न्यूनतम फड्स का प्रत्यक्ष निरीक्षण कौन करता है?
(A) एन.बी.एफ.सी. (B) आर.बी.आई (C) सेबी (D) उपयुक्त सभी Answer: सेबी

3. दीर्धकालीन ऋण को कौन-सा बाजार कहते है?
(A) मनी मार्केट (B) कैपिटल मार्केट (C) बांड मार्केट (D) इनमें से कोई नहीं Answer: कैपिटल मार्केट

4. प्रबन्ध के सिद्धान्त के जन्मदाता कौन है?
(A) फ्लोमिंग (B) वैवनार्ड (C) एफ. डब्लू. टेलर (D) हेनरी फेयोल Answer: हेनरी फेयोल

5. भारतीय लेखांकन मानक परिषद का स्थापना किस वर्ष में हुई?
(A) 1970 (B) 1972 (C) 1973 (D) 1977 Answer: 1977

6. यदि क्रय प्रतिफल की गणना किए गए विभिन्न भुगतानों के योग द्वारा की जाती है, तो इस विधि को क्या कहते है?
(A) एक मुश्त विधि (B) शुद्ध मूल्य विधि (C) शुद्ध भुगतान विधि (D) अंश मूल्य विधि Answer: शुद्ध मूल्य विधि

7. एक चर जैसे कि क्रिया जिसके द्वारा निर्धारित समय में लागत होती है उसे क्या कहते है?
(A) लागत चालक (B) लागत व्यवहार (C) लागत केन्द्र (D) इनमें से कोई नहीं Answer: लागत चालक

8. भारत सरकार ने संसद में ‘प्रबन्ध में कर्मचारियों की भागीदारी’ का बिल कब प्रेषित किया था?
(A) 1983 (B) 1988 (C) 1990 (D) 1981 Answer: 1990

9. लाभ-हानि खाते में प्रभाहित हृास की राशि प्रति वर्ष किस पद्धति में बदलती रहती है?
(A) स्थायी किश्त पद्धति में (B) वार्षिकी पद्धति में (C) क्रमागत हृास पद्धति में (D) बीमा पॉलिसी पद्धति में Answer:क्रमागत हृास पद्धति में

10. यदि समंकों का वर्गीकरण केवल वर्णनात्मक विशेषाएं जिसे मापा नहीं जा सकता है, के आधार पर किया जाता है, तो उसे क्या कहते है?
(A) भौगोलिक वर्गीकरण (B) कालक्रमात्मक वर्गीकरण (C) गुणात्मक वर्गीकरण (D) मात्रात्मक वर्गीकरण Answer:गुणात्मक वर्गीकरण

11. किसने ‘अपवादों द्वारा प्रबन्ध’ की तकनीक को विकसित किया?
(A) जोसेफ एल. मैसी (B) लेस्टर आर. बिटेल (C) एल. एफ. उर्विक (D) पीटर एफ. ड्रफर Answer: लेस्टर आर. बिटेल

12. नई औद्योगिक नीति की घोषणा किस वर्ष की गई थी?
(A) 1997 (B) 1951 (C) 1991 (D) 1998 Answer: 1991

13. कर्मचारियों की विकास सम्भाव्यता की पहचान किसके जरिए की जाती है?
(A) कार्य संवर्धन (B) कार्य मूल्यांकन (C) कार्य मूल्यांकन केन्द्र (D) पदस्थिति का विवरण Answer: कार्य मूल्यांकन

14. मशीन को खरीद के स्थान से स्थापति करने के स्थान तक लाने के लिए, बीमा खर्च को क्या कहते है?
(A) पूंजी खर्च (B) आगम खर्च (C) स्थगित आगम खर्च (D) उपरोक्त में से कोई नहीं Answer: पूंजी खर्च

15. कौन-सी पद्धति मुद्रा का समय मूल्य पर विचार नहीं करती?
(A) शुद्ध वर्तमान मूल्य (B) आंतरिक प्रत्याय दर (C) औसत प्रत्याय दर (D) लाभ सूचकांक Answer: औसत प्रत्याय दर

16. प्रतियोगी की योजना को मद्देनजर रखते हुए बनाई योजना क्या कहलाती है?
(A) नीति (B) क्रियाविधि (C) व्यूह रचना (D) गुप्त योजना Answer: व्यूह रचना

17. ‘विपणन मिश्रण’ अभिव्यक्ति का सृजन किसने किया?
(A) हेनरी फेयोल (B) जेम्स कूलीटन (C) पीटर ड्रकर (D) अब्राहम मास्लो Answer: जेम्स कूलीटन

18. प्रबन्धन में मानव सम्बन्ध दृष्टिकोण किस विचारक से सम्बन्धित है?
(A) अब्राहम मास्लो (B) पीटर एफ. ड्रकर (C) एल्टोन मायो (D) हैजरबर्ग Answer: पीटर एफ. ड्रकर

19. भारत में व्यापारिक बैंकों को चालू करने के लिए लाइसेंस कौन देता है?
(A) भारत सरकार (B) वित्त मन्त्रालय (C) रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया (D) बैंकिंग कम्पनी विनियम अधिनियम, 1992 Answer: रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया

20. राज्य अथवा केन्द्र के अधीन प्रतिष्ठान को क्या कहते है?
(A) प्राइवेट/निजी क्षेत्र (B) सार्वजनिक क्षेत्र (C) संयुक्त क्षेत्र (D) सहकारी क्षेत्र Answer: सार्वजनिक क्षेत्र

21. कार्य का नाम, कार्य स्थल, सारांश, कार्यों, उपयोग में लाई गई सामग्रियों, कार्य दशाओं, आदि मदों को अंतर्विष्ट करने वाले विवरण को क्या कहा जाता है?
(A) कार्य विनिर्देंशन (B) कार्य मूल्यांकन (C) कार्य विवरण (D) कार्य विश्लेषण Answer: कार्य विवरण

22. साखपत्र, गारंटी, वायदा संविदा, आदि किसके अन्तर्गत आते हैं?
(A) बैंक की देयताओं (B) बैंक की आस्तियों (C) बैंक की विदेश विनिमय मदों (D) बैंक की तुलनपत्र से हटकर अन्य मदें Answer: बैंक की तुलनपत्र से हटकर अन्य मदें

23. जब किसी व्यवसाय को क्रय किया जाता है तो लिए गए दायित्वों को घटाने के बाद बची कुल सम्पत्तियों के मूल्य से अधिक भुगतान राशि को क्या कहा जाता है?
(A) अंश अधिमूल्य (B) ख्याति (C) विनियोजित पूंजी (D) कार्यशील पूंजी Answer: ख्याति

24. मैट्रिक्स संगठन संरचना निश्चित रूप से किस सिद्धान्त का अतिक्रमण है?
(A) आदेश की एकता (B) स्केलर चेन (C) दिशा की एकता (D) श्रम-विभाजन Answer: आदेश की एकता

25. ‘भविष्य की हानियों के लिए पर्याप्त प्रावधान रखें लेकिन भविष्य के लाभों का पूर्वानुमान न करें।’ यह कथन किस अवधारणा पर आधारित है?
(A) मिलान (B) उद्देश्यात्मक (C) रूढ़िवादिता (D) भौतिकता Answer: रूढ़िवादिता

26. एक फर्म के विघटन होने पर भागीदारों द्वारा लाभ अथवा हानि का बंटवारा किस अनुपात में होता है?
(A) बराबर (B) उनके पूंजी संतुलन के अनुपात में
(C) लाभ बांटने के अनुपात में (D) गार्नर बनाम मरे वाद में बताए गए अनुपात में Answer: गार्नर बनाम मरे वाद में बताए गए अनुपात में

27. ‘किसी फर्म के चालू वर्ष के वित्तीय विवरण पत्रों का उसी फर्म के पिछले वर्षों के निष्पादन से तुलना’ को क्या कहा जाता है?
(A) प्रवृत्ति विश्लेषण (B) क्षैतिक विश्लेषण (C) अन्तरा-फर्म तुलना (D) उपयुक्त सभी Answer: उपयुक्त सभी

28. विस्तृत किस्म की वस्तुओं का उत्पादन व विक्रय करने वाली फर्में सामान्यतः क्या अपनाती हैं?
(A) लागत धन मूल्यन (B) सीमान्त मूल्यन (C) मंथन मूल्यन (D) उत्पाद श्रेणी मूल्यन Answer: उत्पाद श्रेणी मूल्यन

29. भारत सरकार ने पहली बार किस वर्ष में निर्यात-आयात नीति की घोषणा की?
(A) 1977 (B) 1985 (C) 1988 (D) 1990 Answer: 1985

30. विज्ञापन पर किया गया खर्च जिसका प्रभाव आगामी 3.4 वर्ष तक सम्भावित है, क्या कहलाएगा?
(A) पूंजीगत व्यय (B) आयगत व्यय (C) विलम्बित आयगत व्यय (D) विलम्बित पूंजीगत व्यय Answer: विलम्बित आयगत व्यय

31. किसने औद्योगिक संबंधों की प्रणाली उपागम का प्रतिपादन किया है?
(A) बिट्राइस वेब (B) जॉन डलप (C) एरिक ट्रिस्ट (D) हेनरी फेयोल Answer: जॉन डलप

32. सघन प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण की प्रक्रिया को किस नाम से जाना जाता है?
(A) लाइसेन्सिंग अनुबन्ध (B) प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण (C) ‘टर्नकी’ अनुबन्ध (D) उपर्युक्त में से कोई नहीं Answer:टर्नकी अनुबन्ध

33. शोध, जो क्षेत्र विशेष में ज्ञान की वृद्धि को प्रस्तुत करता है, क्या कहलाता है?
(A) व्यावहारिक शोध (B) गुणात्मक शोध (C) परिमाणात्मक शोध (D) मूल शोध Answer: व्यावहारिक शोध

34. लाभाश पूंजीकरण मॉडल किसके द्वारा विकसित किया गया था?
(A) एजरा सोलोमान (B) मिराॅन जे. गार्डन (C) जेम्स ई. वाल्टर (D) मर्टान एच. मिलर Answer: मिराॅन जे. गार्डन

35. संगठन का परंपरागत सिद्धांत एक संगठन को क्या मानता है?
(A) खुली व्यवस्था (B) बंद व्यवस्था (C) तकनीकी व्यवस्था (D) समष्टी व्यवस्था Answer: बंद व्यवस्था

36. जब उपभोक्ता उन उत्पादकों का पक्ष लेते हैं जिनमें गुणवत्ता, निष्पादन अथवा नवाचारी तत्व होते हैं, तब उसे क्या कहते हैं?
(A) उत्पादन अवधारणा (B) उत्पाद अवधारणा (C) बिक्री अवधारणा (D) विपणन अवधारणा Answer: उत्पाद अवधारणा

37. लागत एवं प्रबन्धन लेखाकरण के ग्राहक कौन है?
(A) प्रबन्धक (B) लेनदार (C) देनदार (D) उपभोक्ता Answer: प्रबन्धक

38. उत्पाद जीवन-चक्र की किस अवस्था में कीमत सम्बन्धी निर्णय सर्वाधिक जटिल होते हैं?
(A) आरम्भिक (B) वृद्धि (C) परिपक्वता (D) गिरावट Answer: परिपक्वता

39. जब एक वस्तु बहुउद्देश्य में प्रयुक्त होती है तो ऐसी मांग को जाना जाता है?
(A) संयुक्त मांग (B) सामूहिक मांग (C) प्रत्यक्ष मांग (D) स्वायत्त मांग Answer: सामूहिक मांग

40. उपभोक्ता व्यवहार सम्बन्धी हावर्ड-सुइथ मॉडल को अन्य किस लोक प्रसिद्ध नाम से जाना जाता है?
(A) मशीन मॉडल (B) मानव मॉडल (C) विपणन मॉडल (D) क्रय मॉडल Answer: मशीन मॉडल

41. किसी कम्पनी की पूंजी का घटाना क्या कहलाता है?
(A) आन्तरिक पुननिर्माण (B) बाह्य पुनर्निर्माण (C) समेकन (D) इनमें से कोई नहीं Answer: आन्तरिक पुननिर्माण

42. वह विपणन कार्य जिसमें लोचपूर्ण मूल्य निर्धारण, संवर्धन तथा अन्य प्रोत्साहनों के माध्यम से मांग के समय प्रतिमान को परिवर्तित किया जाता है, को क्या कहते है?
(A) विविपणन (B) तुल्य विपणन (C) लोचशील विपणन (D) गोरिल्ला विपणन Answer: तुल्य विपणन

43. ऋण वित्तपोषण किसके कारण वित्त का एक सस्ता स्त्रोत है?
(A) धन का समय मूल्य (B) ब्याज दर (C) ब्याज की कर कटौती क्षमता (D) लाभांश उधारदाता को देय नहीं है Answer:ब्याज की कर कटौती क्षमता

44. लेखा वर्ष की समाप्ति से कितनी अवधि के अंदर बोनस का भुगतान अवश्य किया जाना चाहिए, बशर्ते कि बोनस के भुगतान के संबंध में कोई विवाद न हो?
(A) दो माह (B) छह माह (C) आठ माह (D) दस माह Answer: आठ माह

45. किसने मजदूरी अधिशेष मूल्य सिद्धान्त का प्रतिपादन किया है?
(A) डेविड रिकार्डो (B) कार्ल माक्र्स (C) एडम स्मिथ (D) एफ. ए. वाॅकर Answer: कार्ल माक्र्स

46. एक फर्म जो कि बड़ी संख्या में उत्पाद बना रही है, तो वह कौन-सी मूल्य निर्धारण रणनीति अपनाएगी?
(A) लागतोपरि कीमत-निर्धारण (B) विभेदक कीमत-निर्धारण (C) उत्पादानुसार कीमत-निर्धारण (D) कीमत नेतृत्व Answer: उत्पादानुसार कीमत-निर्धारण

47. प्रकट वरीयता का सिद्धान्त किसने प्रतिपादित किया है?
(A) ए. मार्शल (B) पी. एफ. ड्रकर (C) पॉल सैम्युलसन (D) जे. आर. हिक्स Answer: पॉल सैम्युलसन

48. एक पूर्ण प्रतियोगी बाजार अल्प काल में संतुलन की अवस्था में कब होगा?
(A) MC=AC (B) MC=MR (C) MC=शून्य (D) इनमें से कोई नहीं Answer: MC=MR

49. बजट की वह अवधारणा जिसमें स्तरों को आधार से कम करना पड़ता है, उसे क्या कहते हैं?
(A) लचकदार बजट (B) कुल बजट (C) मास्टर बजट (D) जीरो-बेस बजट (शून्य आधारित बजट) Answer: मास्टर बजट

50. ऋण-पत्रों के भुगतान पर दिया जाने वाला प्रीमियर क्या होता है?
(A) व्यक्तिगत खाता (B) वास्तविक खाता (C) नाममात्र खाता (D) इनमें से कोई नहीं Answer: व्यक्तिगत खाता


भारत का इतिहास पाषाण काल


भारत का इतिहासपाषाण युग- 70000 से 3300 ई.पू
मेहरगढ़ संस्कृति 7000-3300 ई.पू
सिन्धु घाटी सभ्यता- 3300-1700 ई.पू
हड़प्पा संस्कृति 1700-1300 ई.पू
वैदिक काल- 1500–500 ई.पू
प्राचीन भारत - 1200 ई.पू–240 ई.
महाजनपद 700–300 ई.पू
मगध साम्राज्य 545–320 ई.पू
सातवाहन साम्राज्य 230 ई.पू-199 ई.
मौर्य साम्राज्य 321–184 ई.पू
शुंग साम्राज्य 184–123 ई.पू
शक साम्राज्य 123 ई.पू–200 ई.
कुषाण साम्राज्य 60–240 ई.
पूर्व मध्यकालीन भारत- 240 ई.पू– 800 ई.
चोल साम्राज्य 250 ई.पू- 1070 ई.
गुप्त साम्राज्य 280–550 ई.
पाल साम्राज्य 750–1174 ई.
प्रतिहार साम्राज्य 830–963 ई.
राजपूत काल 900–1162 ई.
मध्यकालीन भारत- 500 ई.– 1761 ई.
दिल्ली सल्तनतग़ुलाम वंशख़िलजी वंशतुग़लक़ वंशसैय्यद वंशलोदी वंशमुग़ल साम्राज्य 1206–1526 ई.1206-1290 ई.1290-1320 ई.1320-1414 ई.1414-1451 ई.1451-1526 ई.1526–1857 ई.
दक्कन सल्तनतबहमनी वंशनिज़ामशाही वंश 1490–1596 ई.1358-1518 ई.1490-1565 ई.
दक्षिणी साम्राज्यराष्ट्रकूट वंशहोयसल साम्राज्यककातिया साम्राज्यविजयनगर साम्राज्य 1040-1565 ई.736-973 ई.1040–1346 ई.1083-1323 ई.1326-1565 ई.
आधुनिक भारत- 1762–1947 ई.
मराठा साम्राज्य 1674-1818 ई.
सिख राज्यसंघ 1716-1849 ई.
औपनिवेश काल 1760-1947 ई.


समस्त इतिहास को तीन कालों में विभाजित किया जा एकता है-
प्राक्इतिहास या प्रागैतिहासिक काल Prehistoric Age
आद्य ऐतिहासिक काल Proto-historic Age
ऐतिहासिक काल Historic Age
प्राक् इतिहास या प्रागैतिहासिक काल
मुख्य लेख : प्रागैतिहासिक काल

इस काल में मनुष्य ने घटनाओं का कोई लिखित विवरण नहीं रखा। इस काल में विषय में जो भी जानकारी मिलती है वह पाषाण के उपकरणों, मिट्टी के बर्तनों, खिलौने आदि से प्राप्त होती है।
आद्य ऐतिहासिक काल

इस काल में लेखन कला के प्रचलन के बाद भी उपलब्ध लेख पढ़े नहीं जा सके हैं।
ऐतिहासिक काल

मानव विकास के उस काल को इतिहास कहा जाता है, जिसके लिए लिखित विवरण उपलब्ध है। मनुष्य की कहानी आज से लगभग दस लाख वर्ष पूर्व प्रारम्भ होती है, पर ‘ज्ञानी मानव‘ होमो सैपियंस Homo sapiens का प्रवेश इस धरती पर आज से क़रीब तीस या चालीस हज़ार वर्ष पहले ही हुआ।
पाषाण काल

यह काल मनुष्य की सभ्यता का प्रारम्भिक काल माना जाता है। इस काल को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है। -
पुरा पाषाण काल Paleolithic Age
मध्य पाषाण काल Mesolithic Age एवं
नव पाषाण काल अथवा उत्तर पाषाण काल Neolithic Age
पुरापाषाण काल

यूनानी भाषा में Palaios प्राचीन एवं Lithos पाषाण के अर्थ में प्रयुक्त होता था। इन्हीं शब्दों के आधार पर Paleolithic Age(पाषाणकाल) शब्द बना । यह काल आखेटक एवं खाद्य-संग्रहण काल के रूप में भी जाना जाता है। अभी तक भारत में पुरा पाषाणकालीन मनुष्य के अवशेष कहीं से भी नहीं मिल पाये हैं, जो कुछ भी अवशेष के रूप में मिला है, वह है उस समय प्रयोग में लाये जाने वाले पत्थर के उपकरण। प्राप्त उपकरणों के आधार पर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि ये लगभग 2,50,000 ई.पू. के होंगे। अभी हाल में महाराष्ट्र के 'बोरी' नामक स्थान खुदाई में मिले अवशेषों से ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इस पृथ्वी पर 'मनुष्य' की उपस्थिति लगभग 14 लाख वर्ष पुरानी है। गोल पत्थरों से बनाये गये प्रस्तर उपकरण मुख्य रूप से सोहन नदी घाटी में मिलते हैं।

सामान्य पत्थरों के कोर तथा फ़्लॅक्स प्रणाली द्वारा बनाये गये औजार मुख्य रूप से मद्रास, वर्तमान चेन्नई में पाये गये हैं। इन दोनों प्रणालियों से निर्मित प्रस्तर के औजार सिंगरौली घाटी, मिर्ज़ापुर एंवं बेलन घाटी, इलाहाबाद में मिले हैं। मध्य प्रदेश के भोपालनगर के पास भीम बेटका में मिली पर्वत गुफायें एवं शैलाश्रृय भी महत्त्वपूर्ण हैं। इस समय के मनुष्यों का जीवन पूर्णरूप से शिकार पर निर्भर था। वे अग्नि के प्रयोग से अनभिज्ञ थे। सम्भवतः इस समय के मनुष्य नीग्रेटो Negreto जाति के थे। भारत में पुरापाषाण युग को औजार-प्रौद्योगिकी के आधार पर तीन अवस्थाओं में बांटा जा एकता हैं। यह अवस्थाएं हैं-
पुरापाषाण कालीन संस्कृतियांकालअवस्थाएं
1- निम्न पुरापाषाण काल हस्तकुठार Hand-axe और विदारणी Cleaver उद्योग
2- मध्य पुरापाषाण काल

शल्क (फ़्लॅक्स) से बने औज़ार
3- उच्च पुरापाषाण काल

शल्कों और फ़लकों (ब्लेड) पर बने औजार

पूर्व पुरापाषाण काल के महत्त्वपूर्ण स्थल हैं -
पूर्व पुरापाषाण काल के महत्त्वपूर्ण स्थलस्थलक्षेत्र
1- पहलगाम कश्मीर
2- वेनलघाटी

इलाहाबाद ज़िले में, उत्तर प्रदेश
3- भीमबेटका और आदमगढ़

होशंगाबाद ज़िले में मध्य प्रदेश
4- 16 आर और सिंगी तालाब

नागौर ज़िले में, राजस्थान
5- नेवासा

अहमदनगर ज़िले में महाराष्ट्र
6- हुंसगी

गुलबर्गा ज़िले में कर्नाटक
7- अट्टिरामपक्कम

तमिलनाडु

मध्य पुरापाषाण युग के महत्त्वपूर्ण स्थल हैं -
भीमबेटका
नेवासा
पुष्कर
ऊपरी सिंध की रोहिरी पहाड़ियाँ
नर्मदा के किनारे स्थित समानापुर
पुरापाषाण काल में प्रयुक्त होने वाले प्रस्तर उपकरणों के आकार एवं जलवायु में होने वाले परिवर्तन के आधार पर इस काल को हम तीन वर्गो में विभाजित कर सकते हैं।-
निम्न पुरा पाषाण काल (2,50,000-1,00,000 ई.पू.)
मध्य पुरापाषाण काल (1,00,000- 40,000 ई.पू.)
उच्च पुरापाषाण काल (40,000- 10,000 ई.पू.)
मध्य पाषाण काल

इस काल में प्रयुक्त होने वाले उपकरण आकार में बहुत छोटे होते थे, जिन्हें लघु पाषाणोपकरण माइक्रोलिथ कहते थे। पुरापाषाण काल में प्रयुक्त होने वाले कच्चे पदार्थ क्वार्टजाइट के स्थान पर मध्य पाषाण काल में जेस्पर, एगेट, चर्ट और चालसिडनी जैसे पदार्थ प्रयुक्त किये गये। इस समय के प्रस्तर उपकरण राजस्थान, मालवा, गुजरात, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, आंध्र प्रदेशएवं मैसूर में पाये गये हैं। अभी हाल में ही कुछ अवशेष मिर्जापुर के सिंगरौली, बांदा एवं विन्ध्य क्षेत्र से भी प्राप्त हुए हैं। मध्य पाषाणकालीन मानव अस्थि-पंजर के कुछ अवशेष प्रतापगढ़,उत्तर प्रदेश के सराय नाहर राय तथा महदहा नामक स्थान से प्राप्त हुए हैं। मध्य पाषाणकालीन जीवन भी शिकार पर अधिक निर्भर था। इस समय तक लोग पशुओं में गाय, बैल, भेड़, घोड़े एवं भैंसों का शिकार करने लगे थे।

जीवित व्यक्ति के अपरिवर्तित जैविक गुणसूत्रों के प्रमाणों के आधार पर भारत में मानव का सबसे पहला प्रमाण केरल से मिला है जो सत्तर हज़ार साल पुराना होने की संभावना है। इस व्यक्ति के गुणसूत्र अफ़्रीक़ा के प्राचीन मानव के जैविक गुणसूत्रों (जीन्स) से पूरी तरह मिलते हैं।[1] यह काल वह है जब अफ़्रीक़ा से आदि मानव ने विश्व के अनेक हिस्सों में बसना प्रारम्भ किया जो पचास से सत्तर हज़ार साल पहले का माना जाता है। कृषि संबंधी प्रथम साक्ष्य 'साम्भर' राजस्थान में पौधे बोने का है जो ईसा से सात हज़ार वर्ष पुराना है। 3000 ई. पूर्व तथा 1500 ई. पूर्व के बीच सिंधु घाटी में एक उन्नत सभ्यता वर्तमान थी, जिसके अवशेष मोहन जोदड़ो (मुअन-जो-दाड़ो) और हड़प्पा में मिले हैं। विश्वास किया जाता है कि भारत में आर्यों का प्रवेश बाद में हुआ। वेदों में हमें उस काल की सभ्यता की एक झाँकी मिलती है।

मध्य पाषाण काल के अन्तिम चरण में कुछ साक्ष्यों के आधार पर प्रतीत होता है कि लोग कृषि एवं पशुपालन की ओर आकर्षित हो रहे थे इस समय मिली समाधियों से स्पष्ट होता है कि लोग अन्त्येष्टि क्रिया से परिचित थे। मानव अस्थिपंजर के साथ कहीं-कहीं पर कुत्ते के अस्थिपंजर भी मिले है जिनसे प्रतीत होता है कि ये लोग मनुष्य के प्राचीन काल से ही सहचर थे।

बागोर और आदमगढ़ में छठी शताब्दी ई.पू. के आस-पास मध्य पाषाण युगीन लोगों द्वारा भेड़े, बकरियाँ रख जाने का साक्ष्य मिलता है। मध्य पाषाण युगीन संस्कृति के महत्त्वपूर्ण स्थल हैं -
मध्य पाषाण युगीन संस्कृति के महत्त्वपूर्ण स्थलस्थलक्षेत्र
1- बागोर राजस्थान
2- लंघनाज

गुजरात
3- सराय नाहरराय, चोपनी माण्डो, महगड़ा व दमदमा

उत्तर प्रदेश
4- भीमबेटका, आदमगढ़

मध्य प्रदेश

नव पाषाण अथवा उत्तर पाषाण काल
मुख्य लेख : नव पाषाण काल

साधरणतया इस काल की सीमा 3500 ई.पू. से 1000 ई.पू. के बीच मानी जाती है। यूनानी भाषा का Neo शब्द नवीन के अर्थ में प्रयुक्त होता है। इसलिए इस काल को ‘नवपाषाण काल‘ भी कहा जाता है। इस काल की सभ्यता भारत के विशाल क्षेत्र में फैली हुई थी। सर्वप्रथम 1860 ई. में 'ली मेसुरियर' Le Mesurier ने इस काल का प्रथम प्रस्तर उपकरण उत्तर प्रदेश कीटौंस नदी की घाटी से प्राप्त किया। इसके बाद 1872 ई. में 'निबलियन फ़्रेज़र' ने कर्नाटक के 'बेलारी' क्षेत्र को दक्षिण भारत के उत्तर-पाषाण कालीन सभ्यता का मुख्य स्थल घोषित किया। इसके अतिरिक्त इस सभ्यता के मुख्य केन्द्र बिन्दु हैं - कश्मीर, सिंध प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, असम आदि।
ताम्र-पाषाणिक काल

जिस काल में मनुष्य ने पत्थर और तांबे के औज़ारों का साथ-साथ प्रयोग किया, उस काल को 'ताम्र-पाषाणिक काल' कहते हैं। सर्वप्रथम जिस धातु को औज़ारों में प्रयुक्त किया गया वह थी - 'तांबा'। ऐसा माना जाता है कि तांबे का सर्वप्रथम प्रयोग क़रीब 5000 ई.पू. में किया गया। भारत में ताम्र पाषाण अवस्था के मुख्य क्षेत्र दक्षिण-पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश के पश्चिमी भाग, पश्चिमी महाराष्ट्र तथा दक्षिण-पूर्वी भारत में हैं। दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में स्थित 'बनास घाटी' के सूखे क्षेत्रों में 'अहाड़ा' एवं 'गिलुंड' नामक स्थानों की खुदाई की गयी। मालवा, एवं 'एरण' स्थानों पर भी खुदाई का कार्य सम्पन्न हुआ जो पश्चिमी मध्य प्रदेश में स्थित है। खुदाई में मालवा से प्राप्त होनेवाले 'मृद्भांड' ताम्रपाषाण काल की खुदाई से प्राप्त अन्य मृद्भांडों में सर्वात्तम माने गये हैं।

पश्चिमी महाराष्ट्र में हुए व्यापक उत्खनन क्षेत्रों में अहमदनगर के जोर्वे, नेवासा एवं दायमाबाद, पुणे ज़िले में सोनगांव, इनामगांव आदि क्षेत्र सम्मिलित हैं। ये सभी क्षेत्र ‘जोर्वे संस्कृति‘ के अन्तर्गत आते हैं। इस संस्कृति का समय 1,400-700 ई.पू. के क़रीब माना जाता है। वैसे तो यह सभ्यता ग्रामीण भी पर कुछ भागों जैसे 'दायमाबाद' एवं 'इनामगांव' में नगरीकरण की प्रक्रिया प्रारम्भ हो गयी थी। 'बनासघाटी' में स्थित 'अहाड़' में सपाट कुल्हाड़ियां, चूड़ियां और कई तरह की चादरें प्राप्त हुई हैं। ये सब तांबे से निर्मित उपकरण थे। 'अहाड़' अथवा 'ताम्बवली' के लोग पहले से ही धातुओं के विषय में जानकारी रखते थे। अहाड़ संस्कृति की समय सीमा 2,100 से 1,500 ई.पू. के मध्य मानी जाती है। 'गिलुन्डु', जहां पर एक प्रस्तर फलक उद्योग के अवशेष मिले हैं, 'अहाड़ संस्कृति' का केन्द्र बिन्दु माना जाता है।

इस काल में लोग गेहूँ, धान और दाल की खेती करते थे। पशुओं में ये गाय, भैंस, भेड़, बकरी, सूअर और ऊँट पालते थे। 'जोर्वे संस्कृति' के अन्तर्गत एक पांच कमरों वाले मकान का अवशेष मिला है। जीवन सामान्यतः ग्रामीण था। चाक निर्मित लाल और काले रंग के 'मृद्‌भांड' पाये गये हैं। कुछ बर्तन, जैसे 'साधारण तश्तरियां' एवं 'साधारण कटोरे' महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में 'सूत एवं रेशम के धागे' तथा 'कायथा' में मिले 'मनके के हार' के आधार पर कहा जा एकता है कि 'ताम्र-पाषाण काल' में लोग कताई-बुनाई एवं सोनारी व्यवसाय से परिचित थे। इस समय शवों के संस्कार में घर के भीतर ही शवों का दफ़ना दिया जाता था। दक्षिण भारत में प्राप्त शवों के शीश पूर्व और पैर पश्चिम की ओर एवं महाराष्ट्र में प्राप्त शवों के शीश उत्तर की ओर एवं पैर दक्षिण की ओर मिले हैं। पश्चिमी भारत में लगभग सम्पूर्ण शवाधान एवं पूर्वी भारत में आंशिक शवाधान का प्रचलन था।

इस काल के लोग लेखन कला से अनभिज्ञ थे। राजस्थान और मालवा में प्राप्त मिट्टी निर्मित वृषभ की मूर्ति एवं 'इनाम गांव से प्राप्त 'मातृदेवी की मूर्ति' से लगता है कि लोग वृषभ एवं मातृदेवी की पूजा करते थे। तिथि क्रम के अनुसार भारत में ताम्र-पाषाण बस्तियों की अनेक शाखायें हैं। कुछ तो 'प्राक् हड़प्पायी' हैं, कुछ हड़प्पा संस्कृति के समकालीन हैं, कुछ और हड़प्पोत्तर काल की हैं। 'प्राक् हड़प्पा कालीन संस्कृति' के अन्तर्गत राजस्थान के 'कालीबंगा' एवं हरियाणा के 'बनवाली' स्पष्टतः ताम्र-पाषाणिक अवस्था के हैं। 1,200 ई.पू. के लगभग 'ताम्र-पाषाणिक संस्कृति' का लोप हो गया। केवल ‘जोर्वे संस्कृति‘ ही 700 ई.पू. तक बची रह सकी। सर्वप्रथम चित्रित भांडों के अवशेष 'ताम्र-पाषाणिक काल' में ही मिलते हैं। इसी काल के लोगों ने सर्वप्रथम भारतीय प्राय:द्वीप में बड़े बड़े गांवों की स्थापना की।
ताम्र पाषणिक संस्कृतियांसंस्कृतिकाल
1- अहाड़ संस्कृति लगभग 1700-1500 ई.पू.
2- कायथ संस्कृति

लगभग 2000-1800 ई.पू.
3- मालवा संस्कृति

लगभग 1500-1200 ई.पू.
4- सावलदा संस्कृति .

लगभग 2300-2200 ई.पू
5- जोर्वे संस्कृति

लगभग 1400-700 ई.पू.
6- प्रभास संस्कृति

लगभग 1800-1200 ई.पू.
7- रंगपुर संस्कृति

लगभग 1500-1200 ई.पू.



सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


गुरुवार, 5 दिसंबर 2019

List of all the Chief Ministers of Maharashtra

List of all the Chief Ministers of Maharashtra



मुख्यमंत्री
कार्यकाल
पार्टी
1. यशवंतराव चव्हाण
1 मई 1960 से 19 नवंबर 1962 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
2. मारोतराव कन्नमवार
20 नवंबर 1962 से 24 नवंबर 1963 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
3.P. K. सावंत
25 नवंबर 1963 से 4 दिसंबर 1963 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
4. 4.वसंतराव नाइक
5 दिसंबर 1963 से 1 मार्च 1967 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
5.शंकर राव चव्हाण
 21 फरवरी 1975 से 16 मई 1977 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
6.वसंत दा पाटिल
17 मई 1977 से 5 मार्च 1978, 5 मार्च 1978 से 18 जुलाई 1978 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (URS)
7. शरद पवार
18 जुलाई 1978 से 17 फरवरी 1980 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (सोशलिस्ट)
8. अब्दुल रहमान अंतुले
9 जून 1980 से 12 जनवरी 1982 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
9. बाबा साहेब भोसले
21 जनवरी 1982 से 1 फरवरी 1983 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
6. वसंतदा पाटिल
 2 फरवरी 1983 से 1 जून 1985 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
10. शिवजीराव पाटिल निलंगेकर
 3 जून 1985 से 6 मार्च 1986 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
5. शंकर राव चव्हाण
 12 मार्च 1986 से 26 जून 1988 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
7. शरद पवार
26 जून 1988 से 3 मार्च 1990 तक, 4 मार्च 1990 से 25 जून 1991 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
11. सुधाकर राव नाइक
 25 जून 1991 से 22 फरवरी 1993 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
7. शरद पवार
6 मार्च 1993 से 14 मार्च 1995 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
12. मनोहर जोशी
14 मार्च 1995 से 31 जनवरी 1999 तक
शिव सेना 
(बीजेपी-सेना गठबंधन)
13. नारायण राणे
1 फरवरी 1999 से 17 अक्टूबर 1999 तक
शिव सेना 
(बीजेपी-सेना गठबंधन)
14. विलासराव देशमुख
 18 अक्टूबर 1999 से 16 जनवरी 2003 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन)
15. सुशीलकुमार शिंदे
18 जनवरी 2003 से 30 अक्टूबर 2004 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
((कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन)
14. विलासराव देशमुख
1 नवंबर 2004 से 4 दिसंबर 2008 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन)
16. अशोक चव्हाण
7 नवंबर 2009 से 9 नवंबर 2010 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन)
17.  पृथ्वीराज चव्हाण
11 नवंबर 2010 से 26 सितंबर 2014 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन)
18. देवेंद्र फड़नवीस
31 अक्टूबर 2014 से 12 नवंबर 2019 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(बीजेपी-सेना गठबंधन)
18. देवेंद्र फड़नवीस
23 नवंबर 2019 से 26 नवंबर 2019 तक
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
(बीजेपी-सेना गठबंधन)
19. उद्धव ठाकरे
28 नवम्बर 2019 से
वर्तमान


वसंतराव नाइक, सबसे लंबे समय तक रहने वाले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं. उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में 11 वर्ष, 77 दिन सेवा की थी. वह दिसंबर 1963 से फरवरी 1975 तक कार्यालय में थे. वसंतराव नाइक महाराष्ट्र के पहले और एकमात्र मुख्यमंत्री थे जिन्होंने अपना पांच साल का पूरा कार्यकाल पूरा किया था.


हालाँकि अब यह कारनामा देवेन्द्र फड़नवीस भी कर चुके हैं जो कि 2014-2019 के बीच पूरे पांच साल के लिए मुख्यमंत्री थे. देवेंद्र फड़नवीस; महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पहले मुख्यमंत्री थे.

शरद पवार; महाराष्ट्र के सबसे कम उम्र (38 वर्ष) के मुख्यमंत्री थे. 44 वर्ष की आयु में; देवेंद्र फड़नवीस महाराष्ट्र के दूसरे सबसे युवा मुख्यमंत्री थे.

आज 28 नवम्बर को उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के 19वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है. उद्धव ठाकरे; शिवसेना पार्टी की तरफ और ठाकरे परिवार के पहले मुख्यमंत्री हैं. हालाँकि उनके पिता का यह कहना था कि उनके घर के लोग खुद किसी पद पर नहीं बैठेंगे लेकिन अब यह परंपरा टूट गयी है. देखते हैं कि उद्धव ठाकरे किस प्रकार के मुख्यमंत्री साबित होते हैं?

GK Questions For All Exam 2020, GK in Hindi Questions Answers

GK Questions For All Exam 2020, GK in Hindi Questions Answers



Question (1) ‘जन्म मृत्यु पंजीकरण अधिनियम’ कब अस्तित्व में आया?
Answer:- 1969 ई. में

Question (2) हड़प्पा सभ्यता के किस स्थल से नक्कासीदार ईंटें मिली हैं?
Answer:- कालीबंगा ।

Question (3) तंजौर शैली किस नृत्य की प्रमुख शैलि हैं?
Answer:- भरतनाट्यम की

Question (4) कान पर ध्वनि का प्रभाव कितने समय तक रहता है?
Answer:- 1/10 सेकंड

Question (5) भारतीय संविधान का कौन–सा अंग समाजवादी व्यवस्था स्थापित करने की प्रेरणा देता है?
Answer:- राज्य के नीति निदेशक तत्व

Question (6) कौन–सा पुरस्कार एशियाई नोबेल पुरस्कार के नाम से जाना जाता है?
Answer:- रैमन मैग्सेसे पुरस्कार

Question (7) संविधान के अधिकांश अनुच्छेदों को संशोधित करने के लिए कौन–सी प्रक्रिया अपनाई जाती है?
Answer:- साधारण बहुमत

Question (8) नोबेल पुरस्कार से सम्मानित प्रथम भारतीय महिला कौन थी?
Answer:- मदर टेरेसा

Question (9) रेग्युलेटिंग एक्ट कब पारित किया गया?
Answer:- 1773 ई. में

Question (10) आर्थिक नियोजन किस सूची में है?
Answer:- समवर्ती सूची

Question (11) नाथूला दर्रा भारत के किस राज्य में है?
Answer:- सिक्किम में

Question (12) किस वर्ष मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता प्रारंभ हुई?
Answer:- 1951 ई. में

Question (13) वंश परम्परा तथा विकास किसके द्वारा तय होता है?
Answer:- जीन के द्वारा

Question (14) देवगिरि, वारंगल, मालाबार, एवं मदुरा विजय के दौरान अलाउद्दीन खिलजी की सेना का सेनापति कौन था?
Answer:- मलिक काफूर

Question (15) भारत की सबसे बड़ी समाचार एजेंसी कौन–सी है?
Answer:- पी.टी.आई.

Question (16) सर्वप्रथम किस भारतीय साहित्यकार को नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया?
Answer:- रवीन्द्रनाथ टैगोर को

Question (17) प्रतिरक्षा शब्दावली में हमले के नियत समय को क्या कहा जाता है?
Answer:- जीरो आवर

Question (18) एनी बेसेंट ने ‘होमरूल लीग’ की स्थापना कब की?
Answer:- सितम्बर, 1916 ई. में

Question (19) समुद्र पार भारत का सबसे निकटतम पड़ोसी देश कौन है?
Answer:- श्रीलंका

Question (20) सूर्य और पृथ्वी के के बीच अधिकतम दूरी कब होती है?
Answer:- 4 जुलाई को

Question (21) ‘काशी हिन्दू विश्वविद्यालय’ की स्थापना कब की गई?
Answer:- 1916 ई. में

Question (22) ‘ईस्ट इंडिया एसोसिएशन’ की स्थापना किसने की?
Answer:- दादा भाई नौरोजी ने

Question (23) मंजूर उल हक किस क्षेत्र से सम्बंधित हैं?
Answer:- गायन से

Question (24) प्रो. अमर्त्य सेन को किस क्षेत्र में योगदान के लिए नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया?
Answer:- अर्थशास्त्र

Question (25) भारत में किस नदी का जलग्रहण क्षेत्र सर्वाधिक विस्तृत है?
Answer:- गंगा नदी का

Question (26) सौरमंडल में क्षुद्र ग्रह (छोटे खगोलीय पिंड) किन दो ग्रहों के मध्य पाए जाते हैं?
Answer:- मंगल और वृहस्पति के मध्य

Question (27) भारतीय कला केन्द्र कहाँ स्थित है?
Answer:- दिल्ली

Question (28) राष्ट्र–पति को किस विधि से हटाया जा सकता है?
Answer:- महाभियोग द्वारा

Question (29) पंचायती राज्य किस सूची में है?
Answer:- राज्य सूची

Question (30) ‘झुकी हुई मीनार’ किस देश का राष्ट्रीय स्मारक है?
Answer:- इटली का ।

Question (31) ‘द टाइम्स’ किस देश का प्रमुख समाचार पत्र है?
Answer:- ब्रिटेन का

Question (32) भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री कौन थीं?
Answer:- श्रीमती इंदिरा गांधी

Question (33) संविधान लागू होने के समय कितने मौलिक अधिकार थे?
Answer:- सात

Question (34) भारत की तीनों सेनाओं का सुप्रीम कमांडर कौन होता है?
Answer:- राष्ट्र-पति

Question (35) विख्यात ‘तट मंदिर’ कहाँ स्थित है?
Answer:- मामल्लपुरम् में

Question (36) किसने ‘दिल्ली चलो’ का नारा दिया था?
Answer:- सुभाषचंद्र बोस ने

Question (37) सौरमंडल में आकार की दृष्टि से पृथ्वी का स्थान कौन–सा है?
Answer:- पांचवां

Question (38) किस राज्य का विशिष्ट त्योहार ‘ओणम’ है?
Answer:- केरल का

Question (39) किन अनुच्छेदों में समानता का अधिकार वर्णित है?
Answer:- अनु. 14-18

Question (40) किस ग्रह को सबसे सुन्दर ग्रह कहा जाता है?
Answer:- शनि को

Question (41) ललित कला अकादमी की स्थापना किस वर्ष की गई?
Answer:- 1954 ई.

Question (42) ‘पृथ्वी की जुड़वां बहन’ कहे जाने वाले ग्रह का नाम क्या है?
Answer:- शुक्र

Question (43) मनुष्य में मरकरी के विषाक्तन से कौन–सा रोग हो जाता है?
Answer:– मीनामाता रोग

Question (44) संविधान के किन अनुच्छेदों में मौलिक अधिकार वर्णित हैं?
Answer:- अनुच्छेद 12-35

Question (45) मुख्य सतर्कता आयुक्त की नियुक्ति कौन करता है?
Answer:- राष्ट्र-पति

Question (46) ‘‘करो या मरो’ का नारा किसने दिया था?
Answer:- महात्मा गांधी ने

Question (47) सेल्सियस पैमाना को पूर्व में क्या कहा जाता था?
Answer:- सेन्टीग्रेड पैमाना

Question (48) ‘धर्म सुधार आंदोलन का जनक’ किसे माना जाता है?
Answer:- मार्टिंन लूथर किंग

Question (49) अलाउद्दीन खिलजी के समय चितौड़ का शासक कौन था?
Answer:- राणा रतन सिंह

Question (50) महारानी विक्टोरिया को किस वर्ष भारत का साम्राज्ञी बनाया गया?
Answer:- 1858 ई. में

Responsive ad

Amazon