सोमवार, 25 जनवरी 2016

उत्तर_प्रदेश_का_परिचय

उत्तर_प्रदेश_का_परिचय

स्थापना दिवस: जनवरी 1950
राजधानी : लखनऊ
राज्यपाल : राम नाईक
मुख्यमंत्री : अखिलेश यादव
लोकसभा सीटें : 80
न्यायपालिका : इलाहाबाद उच्च न्यायालय
जिलों की संख्या : 75
भाषा : हिंदी
राजकीय भाषा : हिंदी, उर्दू
क्षेत्रफल : 2,40,928 वर्ग किलोमीटर
जनसंख्या : 19,95,81,477
स्त्री : 9,49,85,062
पुरुष : 10,45,96,415
साक्षरता दर : 72 प्रतिशत
राजकीय पक्षी : सारस
राजकीय पशु : बारहसिंगा
राजकीय फूल : पलास
राजकीय पेड़ : अशोक
अन्तर्राष्ट्रीय सीमाएं : नेपाल.
राष्ट्रीय सीमाएं : उत्तराखंड, हिमाचल
प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश,
छत्तीसगढ़, बिहार, झारखण्ड.
अर्थव्यवस्था एवं कृषि
उत्तर प्रदेश में लगभग 66 प्रतिशत जनसंख्या का मुख्य
व्यवसाय कृषि है।
राज्य में लगभग 167.50 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में कृषि
होती है।
1999 से 2008 के बीच अर्थव्यवस्था में केवल
4.4 प्रतिशत की ही वृद्वि हुई है।
गन्ना राज्य की प्रमुख नगदी फसल है।
उत्तर प्रदेश आलू, तिलहन का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है।
राज्य में वस्त्रोद्योग और चीनी उद्योग दो
महत्वपूर्ण उद्योग हैं। इसके अलावा राज्य में चमड़े का काम
सर्वाधिक मात्रा में होता है। आगरा व कानपुर चमड़े के कारखानों के
मुख्य केन्द्र हैं।
उत्तर प्रदेश भारत का पांचवां सबसे बड़ा राज्य है।
भारत में महाराष्ट्र के बाद उत्तर प्रदेश दूसरी सबसे
बड़ी अर्थव्यवस्था है।
उत्तरप्रदेश का जनसंख्या में भारत में पहला स्थान है।
उत्तर प्रदेश का भारत के राज्यों में साक्षरता दर में 22 वां स्थान
है।
कानपुर, नोएडा, मेरठ, मुरादाबाद, अलीगढ़, मिर्जापुर तथा
भदोही राज्य के प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र हैं।
जीएसडीपी: 147 बिलियन
अमेरिकी डॉलर (2013-14 अनु.).
प्रमुख फसलें : गन्ना, गेंहू, चावल, कपास, चना, मटर, तम्बाकू,तेल
के बीज
प्रमुख नदियां : गंगा, यमुना, गंडक, गोमती, सरयू,
रामगंगा, घाघरा
प्रमुख खनिज : लाइमस्टोन, डेलोमाइट
प्रशासन
उत्तर प्रदेश में द्विसदनात्मक विधान मण्डल है। विधानसभा में
403 सदस्य हैं।
राज्य में लोकसभा की 80 तथा राज्य सभा
की 31 सीटें हैं।
राज्य में समाजवादी पार्टी,
भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज
पार्टी,भारतीय कम्युनिस्ट
पार्टी,भारतीय राष्ट्रीय
कांग्रेस,राष्ट्रीय लोकदल, जनता दल (यूनाइटेड), अपना
दल,लोक जन शक्ति पार्टी आदि प्रमुख
राजनीतिक दल हैं।
लोक संस्कृति
उत्तर प्रदेश सांस्कृतिक दृष्टिकोण से काफी समृद्ध
राज्य है।
भारत की प्राचीन सिन्धु घाटी
सभ्यता से लेकर ब्रिटिश काल तक की सभ्यता इस
प्रदेश में देखने को मिलती
है।
साहित्य के क्षेत्र में प्रदेश में संस्कृत,
हिंदी,पाली व उर्दू साहित्य का बहुत विकास
हुआ।
कबीर, सूरदास, तुलसीदास, प्रेमचंद,भारतेन
्दु हरिशचन्द्र, महादेवी वर्मा,मैथलीशरण
गुप्त, जयशंकर प्रसाद, निराला और हरिवंश राय बच्चन ने साहित्य
में अमूल्य योगदान दिया।
कला की दृष्टि से प्रदेश में कंदरा
शैली,बृज या मथुरा शैली,
बुंदेली शैली, मुगल शैली तथा
आधुनिक मिश्रित
शैलियां प्रचलित हैं।
कत्थक शैली का नृत्य यहाँ सर्वाधिक लोकप्रिय है।
यहां भारतीय संगीत में फारसी
तर्जों का समावेश अधिक मात्रा में हुआ है।
प्रसिद्ध सूफी कवि,संगीताचार्य और
प्रशासक अमीर खुसरो ने सितार और तबले का
आविष्कार किया। कुमायूँ, नौटंकी,रासलीला,
झूला, छपेली,दीवाली,
कजरी और करीना उत्तर प्रदेश के
विभिन्न प्रसिद्ध लोकनृत्य हैं।
यहाँ हस्तशिल्प में चिकन का काम, ज़री का काम,
लकड़ी के खिलौने व फर्नीचर,
मिट्टी के खिलौने, कालीन आदि विशेषत:
प्रसिद्ध हैं।
हिन्दी प्रदेश की मुख्य भाषा है परन्तु
इसके अलावा यहाँ बृज, बुंदेली,
अवधी,भोजपुरी, खड़ी
बोली व
पंचाली आदि कई बोलियाँ बोली
जाती हैं।
परिवहन
राज्य में सड़कों की कुल लम्बाई 131969
किमी. है। राष्ट्रीय राजमार्ग
की कुल लम्बाई 3794 किमी. है।
रेलवे लाइन की कुल लम्बाई 8,900 किमी.
है।
प्रदेश उत्तरी रेलवे क्षेत्र के अंतर्गत आता है।
रेलवे के उत्तरी क्षेत्र का मुख्य जंक्शन लखनऊ
है। अन्य महत्वपूर्ण जंक्शन हैं- आगरा, कानपुर,
इलाहाबाद,मुगलसराय, झांसी, वाराणसी,
टूंडला, गोरखपुर, गोंडा, फैजाबाद, बरेली और
सीतापुर।
प्रदेश में लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, आगरा,
झांसी, वाराणसी, गोरखपुर,बरेली,
हिंडन, सहारनपुर और रायबरेली में हवाई अड्डे हैं।
शिक्षा
शिक्षा के क्षेत्र में राज्य का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। पिछले
कुछ सालों से राज्य ने शिक्षा के सभी स्तरों पर निवेश
किया है तथा सफलता भी अर्जित की है।
एक प्राइमरी विद्यालय 1.5 किमी. तथा
उच्चतर माध्यमिक विद्यालय 3 किमी. की
दूरी पर प्रत्येक ग्रामीण क्षेत्र में स्थित
हैं। यहां पर बहुत से पॉलीटेकनिक तथा
इंजीनियरिंग कॉलेज भी हैं।
दुनिया भर में अपनी शिक्षा की गुणवत्ता
तथा संबंधित क्षेत्र में शोध के लिए प्रसिद्घ
आई.आई.टी. कानपुर तथा आई. आई.एम. लखनऊ
इसी राज्य में हैं।
प्रमुख शिक्षण संस्थान
प्रदेश के कुछ प्रमुख शिक्षण संस्थान निम्नलिखित हैं-
इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद;
बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय,
लखनऊ,
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय,वाराणसी;
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय,अलीगढ़;
डा. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, आगरा;
छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर;
चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी
विश्वविद्यालय, कानपुर;
बुंदेलखंड विश्वविद्यालय,
झांसी;
पूर्वांचल विश्वविद्यालय,
गोरखपुर; इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ
टेक्नोलॉजी, कानपुर;
सम्पूर्णानन्द संस्कृति विश्वविद्यालय, वाराणसी;
गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कालेज, कानपुर;
संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट
ऑफ मेडिकल साइंसेज, लखनऊ।
पर्यटन
उत्तर प्रदेश में धार्मिक महत्व के कई दर्शनीय
स्थल हैं। वाराणसी, इलाहाबाद, अयोध्या, मथुरा,चित्रकूट,
नैमिषारण्य, श्रावस्ती,
कुशीनगर,कौशांबी आदि प्रसिद्ध
तीर्थ स्थान हैं।
आगरा में ताज महल विश्व के सात आश्चर्यों में एक है, जिसे
देखने के लिए घरेलू और विदेशी पर्यटकों
की भीड़ रहती है।
सारनाथ,लखनऊ, झांसी, फतेहपुर
सीकरी, देवगढ़,
भीतरगांव,बिठूर, कन्नौज, महोबा, गोरखपुर आदि में हिंदू
व मुस्लिम वास्तुशिल्प और संस्कृति की महत्वपूर्ण
धरोहरें हैं।
राष्ट्रीय उद्यान
लखीमपुर खीरी स्थित दुधवा
नेशनल पार्क उत्तर प्रदेश का एक मात्र राष्ट्रीय
उद्यान है। यह 490 वर्ग किमी. में फैला हुआ है।
प्रमुख पर्व और मेले
उत्तर प्रदेश में ढेरों पर्व और मेले आयोजित होते हैं।
शिवरात्रि,मकर संक्रांति, रामनवमी,
जन्माष्टमी,नवरात्रि, दशहरा,
होली,दीपावली, कार्तिक
पूर्णिमा, रक्षा-बन्धन,
बसन्त पंचमी, नागपंचमी, शब-ए-
रात,बारावफात, बकरीद, मुहर्रम, ईद-उल-फितर,
क्रिसमस,ईस्टर आदि कई धर्मों के त्यौहार यहाँ मनाए जाते हैं।
वहीं राज्य में लगभग 2250 मेलों का आयोजन होता
है। ये मेले सर्वाधिक संख्या में कानपुर, मथुरा, आगरा,
झांसी और फतेहपुर में लगते हैं। इलाहाबाद में 12 व
6 वर्ष के अन्तराल पर क्रमश: कुंभ व अद्र्धकुंभ मेला आयोजित
होता है।

Responsive ad

Amazon