शनिवार, 27 फ़रवरी 2016

प्रमुख वचन और नारे क्रांतिकारी



प्रमुख वचन और नारे क्रांतिकारी

≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡≡
जय जवान जय किसान – लाल बहादुर शास्त्री
मारो फिरंगी ko – मंगल पांडे
जय जगत – विनोबा भावे
कर मत दो – सरदार बल्लभभाई पटले
संपूर्ण क्रांति – जयप्रकाश नारायण
विजय विश्व तिरंगा प्यार – श्यामलाल गुप्ता पार्षद
वंदे मातरम – बंकिमचंद्र चटर्जी
जय गण मन – रवींद्र नाथ टैगोर
सम्राज्यवाद का नाश हो – भगत सिंह
इंकलाब जिंदाबाद – भगत सिंह
स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है – बाल गंगाधर तिलक
दिल्ली चलो – सुभाषचंद्र बोस
करो या मरो – महात्मा गांधी
जय हिंद – सुभाषचंद्र बोस
पूर्ण स्वराज – जवाहरलाल नेहरू
हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान – भारतेंदू हरिशचंद्र
वेदों की ओर लौटो – दयानंद सरस्वती
आराम हराम है – जवाहरलाल नेहरू
हे राम – महात्मा गांधी
भारत छोड़ो – महात्मा गांधी
सरफरोशी की तम्मना अब हमारे दिल में है – रामप्रसाद बिस्मिल
सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा – इकबाल
तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा – सुभाषचंद्र बोस
साइमन कमीशन वापस जाओ – लाला लाजपत राय
हू लिव्स इफ इंडिया डाइज – जवाहरलाल नेहरू






















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Responsive ad

Amazon